Welcome Guest, Login | Register
Home | Medical | City Info | Image Gallery | Babies Name | Utilities | Poetry | Recipe | Joke/SMS | Articles | Hostel | Trade Events| MPDarshan
 
दिवाली और लक्ष्मी

बंता: पिछली दिवाली को हमने रात को लक्ष्मी के लिये दरवाजे खोल कर रखे थे पर चोर आ गए!


संता: हो सकता है चोर अपने घर के दरवाजों के साथ खिड़कियाँ भी खोल कर आये हो इसलिये तुम्हारे घर की लक्ष्मी उनके यहाँ चली गई.
posted by Raghvendra SinghVerma @ 4:30PM on date 12-11-2012
Views (886)
0 comments
Valid XHTML 1.0 Transitional   Valid CSS!
esagar.com © 2009-2011 All rights reserved | Powered by Das Consultancy Services